• गंगाजल आपूर्ति योजना का शुभारंभ 27 नवंबर 2022 को बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार द्वारा राजगीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर से किया गया ।

• इस योजना के तहत प्रत्येक व्यक्ति को प्रतिदिन 135 लीटर गंगाजल की आपूर्ति की जाएगी।

• राजगीर से पहले यह योजना 28 नवंबर को गया और बोधगया में शुरू की गई है।

• मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के मार्गदर्शन में जल संसाधन विभाग ने तत्परता से काम करते हुए इतनी बड़ी परियोजना को कोरोना काल की विपरीत परिस्थितियों के के बावजूद तीन साल से कम समय में पूरा किया गया है।

• गंगा जल को 11 शक्तीशाली पंप के ज़रिये हाथीदह से राजगीर, गया, बोधगया और नवादा पहुँचाया गया है। राजगीर में इसके लिये डिटेंशन सेंटर बनाया गया है।

• इस गंगा जल पाइपलाइन के ज़रिये 151 किमी. सफर तय करके राजगीर, गया और बोधगया के जलाशयों में पहुँचा है, जहाँ से यह शोधित होकर शुद्ध पेयजल के रूप में रोज लाखों लोगों को पीने योग्य स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति की जाएगी।

• इसके अलावा शहर के संस्थानों, अस्पतालों, होटलों आदि को भी जल की आपूर्ति की जाएगी, ताकि इन शहरों में बड़ी संख्या में आने वाले पर्यटकों तथा श्रद्धालुओं के लिये भी शुद्ध जल की आपूर्ति हो सके। राजगीर जू सफारी में रखे गए जीव-जंतुओं तथा नेचर सफारी की वनस्पतियों को भी गंगा जल की आपूर्ति होगी।

• यह योजना जल-जीवन हरियाली अभियान का हिस्सा है।

• जल संसाधन विभाग के इंजीनियरों की कड़ी मेहनत की बदौलत ‘गंगा जल आपूर्ति योजना’ और ‘गयाजी (रबर) डैम योजना’ को धरातल पर उतारा जा सका।

• माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी की अति महत्वाकांक्षी ‘गंगा जल आपूर्ति योजना’ और ‘गयाजी रबर डैम योजना’ ने बिहार की तस्वीर बदली है। ‘गंगा जल आपूर्ति योजना’ के तहत भारत में पहली बार बाढ़ के पानी का पेयजल के रूप में इस्तेमाल हो रहा है। साथ ही मुख्यमंत्री जी के प्रयासों से फल्गु नदी पर रबर डैम का निर्माण होने के बाद पानी की कमी से जूझने वाली फल्गु नदी आज हर समय जलमग्न रहती है। नीतीश सरकार की इन दोनों योजनाओं को अब राष्ट्रीय पुरस्कार दिया जाएगा।

• माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी की अति महत्वाकांक्षी ‘गंगा जल आपूर्ति योजना’ के तहत राजगीर, गया और बोधगया में पेयजल के रूप में गंगाजल की आपूर्ति की जा रही है। नवादा में भी इस योजना के तहत गंगाजल की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी।

• माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी की अति महत्वाकांक्षी ‘गंगा जल आपूर्ति योजना’ के तहत गया, बोधगया और राजगीर के हर घर तक पेयजल के रूप में गंगाजल पहुंच रहा है।

• ‘गंगाजल आपूर्ति योजना’ बिहार के लिए गेम चेंजर साबित होगी। इस योजना के तहत बाढ़ के समय गंगा नदी के अधिशेष जल को इकट्ठा कर उसे शोधित करने के बाद पेयजल के रूप में उपयोग किया जा रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *