• राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के अवसर पर राजकीय विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम में अध्ययन की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए, राज्य सरकार ने सत्र 2019-20 से राजकीय विद्यालयों को महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय (अंग्रेजी माध्यम) कक्षा 1 से 12 में परिवर्तित करने का निर्णय लिया था।

• गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का एक नया मार्ग: राजस्थान के ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में 2 हजार महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल।

• वर्ष 2021-22 में बजट घोषणा अनुसार 5000 से अधिक आबादी वाले गांवों और कस्बों में आगामी 2 वर्षों में 1200 राजकीय विद्यालयों को महात्मा गांधी राजकीय विद्यालयों (अंग्रेजी माध्यम) में परिवर्तित करने का प्रस्ताव किया गया है।

• प्रदेश का कोई भी बच्चा प्रतियोगिता के इस दौर में अच्छी, गुणवत्तापूर्ण और अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा हासिल कर सके, माननीय मुख्यमंत्री जी की यह सोच साकार हो रही है… महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूलों में पढ़ रहे बच्चे राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दूसरे बच्चों के साथ प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार हो रहे हैं।#Rajasthan

थोड़े से अभ्यास में ही फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने लगते हैं बच्चे

• महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल में बच्चे इंग्लिश में बोलते हैं और इंग्लिश में ही शिक्षक इनसे वार्ता करते हैं। जो बच्चा इंग्लिश नहीं समझता, उसे दिन में एक ही बात को हिन्दी-अंग्रेजी में दो तीन बार समझाया जाता है।

• यहां शिक्षक मानते हैं कि पहले से ही बच्चों की कैंचिग पॉवर तेज होती है, इस कारण बच्चे धीरे-धीरे अंग्रेजी में ढलने लग जाते हैं।

• हाल ही में कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर अपने विधानसभा क्षेत्र सरदारपुरा में जोधपुर जिले के प्रथम महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल में दो बच्चों के फर्राटेदार अंग्रेजी बोलते का वीडियो वायरल किया था। इसके बाद पत्रिका ने भी स्कूल जाकर मामले की पड़ताल की तो कई बच्चों का शैक्षणिक स्तर शानदार नजर आया। इस दौरान पत्रिका ने सीएम गहलोत के ट्वीट वाले वीडियो में दिखाई देने वाले बच्चों से भी जाकर बातचीत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *