google-site-verification=kFF_GbTMjdJvyJNHI6thLREEW1qX4LmCzK2g8_p9rr8

प्रधानमंत्री पोषण मिशन

• प्रधानमंत्री पोषण मिशन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 8 मार्च 2018 को राजस्थान के झुंझुनूं जिले से शुरू किया गया।

• प्रधानमंत्री पोषण मिशन में केन्द्र व राज्य सरकार का क्रमश: 60:40 योगदान है।

• पोषण अभियान (राष्ट्रीय पोषण मिशन) महिला और बाल विकास मंत्रालय का एक प्रमुख कार्यक्रम है।

• प्रधानमंत्री पोषण मिशन, पोषण मिशन,प्रधानमंत्री पोषण योजना की शुरुआत कब की गई,प्रधानमंत्री पोषण मिशन क्या है,प्रधानमंत्री राष्ट्रीय पोषण मिशन, Pradhanmantri poshan abhiyan के बारे में आपको पूरी जानकारी विस्तार से दी जाएगी। आप इस लेख को पूरा अवश्य पढ़ें।

• यशस्वी प्रधानमंत्री आदरणीय श्री Narendra Modi जी देशभर में फैले कुपोषण एवं एनीमिया जैसे गंभीर बीमारियों से निपटने के लिए लगातार प्रयासरत हैं। इसी दिशा में राष्ट्रीय पोषण मिशन काफी लाभकारी सिद्ध हो रहा है। इससे न केवल बच्चे एवं महिलाओं का शारीरिक व् मानसिक विकास हुआ है, बल्कि देश में एक मजबूत स्वास्थ्य तंत्र का भी निर्माण हुआ है।

• भारत सरकार बच्चों एवं महिलाओं के स्वास्थ्य और पोषण को सर्वोच्च प्राथमिकता दे रही है।प्रधानमंत्री पोषण मिशन के द्वारा गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को आर्थिक सहायता दी जा रही है एवं मिशन इंद्रधनुष के अंतर्गत बच्चों के टीकाकरण पर विशेष बल दिया जा रहा है।

• एक समर्थ व सशक्त राष्ट्र के निर्माण हेतु मॉं व बच्चों के स्वास्थ्य पर अनिवार्य रूप से ध्यान देना होगा। आदरणीय प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में समाज के अंतिम पायदान पर खड़ी माँ और बच्चे के सुपोषण के लिए वर्ष 2018 से सितंबर माह को ‘राष्ट्रीय पोषण माह’ के रूप में मनाया जा रहा है।

• एक कुपोषित मॉं या बच्चा केवल एक परिवार के लिए नहीं, बल्कि पूरे समाज व राष्ट्र के समक्ष चुनौती है। प्रत्येक राज्य की सरकार निरंतर इस दिशा में कार्यरत है। हम सभी को इससे जुड़कर अपना योगदान देना चाहिए।

• पोषण अभियान के तहत शिशु को मोटा अनाज नवजात बच्चे को मां का दूध पिलाने के संबंध में जन जागरूक किया जाता है । इस अभियान के तहत कहा गया कि मोटे अनाज जैसे मकई, दलिया, सूजी, ज्वार बाजरा, आदि को खाने से भी बहुत ज्यादा फायदा मिलता हैं । बेटा बेटी एक समान है इसमे अंतर नही करना चाहिए । बच्चे को मां को दूध जरूर पिलाएं । हाथ धोकर खाना खाए । 6 माह तक के बच्चों को सिर्फ मां का दूध पिलाएं ताकि डायरिया, दस्त तथा निमोनिया जैसे गंभीर बीमारी से बच्चा सुरक्षित रहे ।

• 2018 में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा राजस्थान के झुंझुनु से शुरू हुआ पोषण मिशन आज पूरे भारत वर्ष में राष्ट्रीय पोषण अभियान का रूप ले चुका है। “सही पोषण देश रोशन” के संकल्प के साथ आगे बढ़ते हुए आज आंगनवाड़ी बच्चों के लिए पोषण युक्त खाद्य सामग्री एवं नि:शुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया।

• श्री अन्न रागी को भारतीय मूल का पोषक अनाज माना जाता है जो मधुमेह के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है।पोषण अभियान के अंतर्गत, पूरक पोषाहार के रूप में, सप्ताह में एक बार श्री अन्न रागी का उपयोग अवश्य करना चाहिए।

• माँ स्वस्थ होगी तो स्वाभाविक रूप से बच्चे कुपोषण से मुक्त होंगे। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बीते 05 वर्षों से प्रतिबद्धता के साथ इस दिशा में मिशन मोड में कार्य कर रही है। आइए, हम सभी मिलकर पवित्र ‘राष्ट्रीय पोषण माह’ अभियान के साथ जुड़कर देश के वर्तमान और भविष्य को सुरक्षित रखने में अपना योगदान जरूर दें।

• पोषण से हो रहा बचपन रोशन!पोषण अभियान के तहत अब तक 10.02 करोड़ से अधिक लाभार्थी लाभान्वित हो चुके हैं।

प्रधानमंत्री पोषण मिशन का लक्ष्य

• प्रधानमंत्री पोषण मिशन का मुख्य लक्ष्य यह है कि “सही पोषण देश रोशन” के माध्यम से कुपोषण मुक्त भारत बनाना।

• बच्चे, किशोर, गर्भवती महिलाएं और स्तनपान कराने वाली माताएं पोषण अभियान का मुख्य फोकस हैं। वाराणसी का अवलेशपुर एक ऐसा गांव है जहां पोषण संबंधी परिणामों में सुधार के लिए भारत की प्रमुख योजना चमत्कार कर रही है।

प्रधानमंत्री पोषण मिशन का उद्देश्य

• प्रधानमंत्री पोषण मिशन का मुख्य उद्देश्य यह है कि

कुपोषण में प्रतिवर्ष 2% की कमी,एनिमिया में प्रतिवर्ष 2% की कमी,ठिगनेपन की समस्या 34% से घटाकर 25% करना

• पोषण अभियान/मिशन का मुख्य उद्देश्य यह है कि आंगनवाडी केन्द्रों के माध्यम से तथा वितरण की गुणवत्ता में सुधार करके भारत में कुपोषण को कम करना है।

• पोषण गान – पोषणम् – पोषणम्।

• पोषण पंखवाङा – 8 से 22 मार्च 2019 को मनाया गया।

• पोषण माह – प्रतिवर्ष सितम्बर माह को पोषण माह के रूप में मनाया जाता हैं।

प्रधानमंत्री पोषण मिशन हाइलाइट

योजना का नाम प्रधानमंत्री पोषण मिशन
योजना/मिशन का संचालन भारत सरकार
प्रधानमंत्री पोषण मिशन की शुरुआत 8 मार्च 2018
प्रधानमंत्री पोषण का लक्ष्य प्रधानमंत्री पोषण मिशन का मुख्य लक्ष्य यह है कि “सही पोषण देश रोशन” के माध्यम से कुपोषण मुक्त भारत बनाना।
प्रधानमंत्री पोषण मिशन का उद्देश्य पोषण अभियान/मिशन का मुख्य उद्देश्य यह है कि आंगनवाडी केन्द्रों के माध्यम से तथा वितरण की गुणवत्ता में सुधार करके भारत में कुपोषण को कम करना है।
लाभार्थी भारत के मूल निवासी
Check All Latest Job Sarkariyojna.info

Leave a Comment