google-site-verification=kFF_GbTMjdJvyJNHI6thLREEW1qX4LmCzK2g8_p9rr8

श्रमिक कार्ड छात्रवृत्ति योजना राजस्थान, Sarmik Card Scholarship Yojana Rajasthan

Sarmik card scholarship yojana: राज्य के लोकप्रिय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी द्वारा राजस्थान श्रमिक कार्ड योजना की शुरुआत प्रदेश में श्रमिक/ मजदूर वर्ग के कल्याण के लिए की गयी है | इस योजना के अंतर्गत राज्य के सभी श्रमिक/मजदूर लोगों को अपना श्रमिक कार्ड बनवाने की सुविधा प्रदान की जा रही है | इस श्रमिक कार्ड के माध्यम से राजस्थान के मजदूर परिवार के लोगों को राज्य सरकार द्वारा शुरू की गयी विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदान किया जायेगा |मेरा प्रदेश के सभी युवा और विद्यार्थी साथियों से आग्रह है कि आपके आस-पास जो भी महिला/पुरुष श्रमिक कार्यरत हैं; आप उनका श्रमिक कार्ड बनवाने में मदद कीजिए। वे जीवन भर आपका एहसान नहीं भूलेंगे।

Join WhatsApp Group Click Here
Join Telegram Click Here


श्रमिक कार्ड को जाने और लाभ उठाएं

सभी मित्रो से निवेदन है कि अपने अपने विद्यालय मे सभी छात्र छात्राओ को श्रमिक कार्ड के फायदे बताए और इनके कार्ड बनवाने को कहै अगर इनके माता-पिता के इस वर्ष के परीक्षा परिणाम से पहले काड॔ बन जाता है तो सभी को इस वर्ष कि छात्रवृत्ति मिल जाएगी! इसलिए मेरा आप लोगो से विनम्र निवेदन है कि आप इस सबंध मे प्रयास करे !

श्रमिक (मजदुर) कार्ड के फायदे

1. लड़के के जन्म पर 20 हजार रुपये, लड़की के जन्म पर 21 हजार रूपये मिलेंगे (अधिकतम 2 बच्चों के जन्म पर )

2. श्रमिक कार्डधारी के बच्चो को पढ़ाई में मिलने वाली छात्रवृत्ति

कक्षा छात्र छात्राओं / विशेष श्रेणी
कक्षा 6 से 88000 रुपये9000 रुपये
कक्षा 9 से 129000 रुपये10000 रुपये
आईटीआई9000 रुपये10000 रुपये
डिप्लोमा10000 रुपये11000 रुपये
स्नातक(BA,BSC)13000 रुपये 15000 रुपये
स्नातक(व्यवसायिक)18000 रुपये 20000 रुपये ्
पोस्ट ग्रेजुएशन(MA)1500017000

3. शुभशक्ति योजना- लड़की कि उम्र 18 वर्ष की होने पर तथा 8वी पास होने 55 हजार रूपये की सरकारी सहायता मिलेगी। (लड़की 8वीं पास हो, उम्र 18साल हो (श्रमिक कार्ड बने हुए 6 माह हो गए हो )अधिकतम 2 लड़कियों को ही मिलेगी।

4. जमीन का पट्टा होने पर 1 लाख 50 हजार की सहायता।

5. दुर्घटना होने पर 30 हजार से 3 लाख तक की सरकारी सहायता।

6, सामान्य मृत्यु होने पर 2 लाख रुपये सहायता ।

7, दुर्घटना मृत्यु पर 5 लाख सरकारी सहायता

श्रमिक कार्ड छात्रवृत्ति से जुडी कुछ महत्वपूर्ण शर्तें

• केवल वे मजदूर ही छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर पाएंगे जिनका श्रमिक कार्ड बना हुआ है।

• श्रमिकों का श्रम कार्ड कम से कम 6 महीने पुराना होना चाहिए।

• मजदूर का बेटा, बेटी या पत्नी उच्च शिक्षा हेतु छात्रवृत्ति के लिए पात्र हैं। यदि किसी लाभार्थी की पत्नी छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करती हैं तो उसकी उम्र 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए.केवल श्रमिकों के 2 बच्चे या 1 बच्चे और पत्नी छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर सकते हैं।

• कोई छात्र आठवीं से 12वीं कक्षा में 70 प्रतिशत अंकों या इससे अधिक अंकों के साथ पास होता है तो उसे नगद पुरस्कार दिया जाएगा।

• श्रमिक कार्ड छात्रवृत्ति के माध्यम से दी जाने वाली स्कॉलरशिप केवल श्रमिकों के बच्चों के बैंक खाते में ही भेजी जाएगी.shramik card scholarship eligibility स्कॉलरशिप प्राप्त करने के लिए बच्चों के पास आधार कार्ड से लिंक बैंक अकाउंट होना चाहिए.

श्रमिक कार्ड छात्रवृत्ति हेतु दस्तावेज

1.मजदुर का श्रमिक कार्ड

2. जन आधार कार्ड

3. बैंक अकाउंट की पासबुक

4. उस वर्ग या पाठ्यक्रम की मार्कशीट की स्व-सत्यापित प्रति.शिक्षण / प्रशिक्षण संस्थान के प्रमुख द्वारा फॉर्म के निर्धारित कॉलम पर हस्ताक्षर और मुहर।

5. लाभार्थी के निर्माण श्रमिक होने का अंतिम 12 महीने का प्रमाण पत्र।

6. पासपोर्ट साईज की फोटो।

7. मोबाइल नंबर।

8. श्रमिक कार्ड छात्रवृति फॉर्म

• श्रमिक कार्ड बनवाने की उम्र :- 18 वर्ष से 60 वर्ष की उम्र तक कोई भी पुरुष या महिला ये श्रमिक कार्ड बनवा सकते हैं ।

मुख्यमंत्री विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना के अन्तर्गत आवेदन

• मुख्यमंत्री विश्वकर्मा कामगार कल्याण योजना के अंतर्गत मजदुर कार्ड धारक श्रमिक को औजार हेतु 5000 रुपए की सहायता राशि दी जा रही है। जिस किसी व्यक्ति के श्रम विभाग द्वारा जारी श्रमिक कार्ड बना हुआ है और उनकी आयु 18 से 40 के मध्य है। तो वे अपना श्रमिक कार्ड व आवश्यक दस्तावेज ले जाकर आप अपने जिले में श्रम विभाग कार्यालय में आवेदन पत्र भरकर जमा करवाते या नजदीकी ई मित्र के माध्यम से ऑनलाइन फॉर्म भरें।

Leave a Comment